मिसाइल मैन डॉ अब्दुल कलाम जीवनी – APJ Abdul Kalam Biography in Hindi

APJ Abdul Kalam Biography in Hindi, APJ Abdul Kalam books, एपीजे अब्दुल कलाम जीवनी, महान वैज्ञानिक अब्दुल कलाम का जीवन परिचय।

आज हम भारत के पूर्व राष्ट्रपति व महान वैज्ञानिक व मिसाइल मैन डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम की जीवनी के बारे में पूरी जानकारी देंगे। 

Important Points: APJ Abdul Kalam Biography in Hindi

यहाँ हम आपको सर्वप्रथम अब्दुल कलाम जीवनी से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण बिंदु बताएंगे फिर आगे विस्तार से जीवनी बताएंगे।

Abdul Kalam Biography in Hindi – अब्दुल कलाम का जीवन परिचय के महत्वपूर्ण बिंदु

APJ Abdul Kalam Biography in Hindi, Abdul Kalam Biography in Hindi, Abdul Kalam in Hindi, APJ Abdul Kalam in Hindi, About Abdul Kalam in Hindi, Apj Abdul Kalam Books, एपीजे अब्दुल कलाम का जीवन परिचय, अब्दुल कलाम की जीवनी, अब्दुल कलाम के बारे में।
जन्म15 अक्टूबर 1931
जन्मस्थानरामेश्वरम, तमिलनाडु
शिक्षासेंट जोसेफ कॉलेज, तिरुचिरापल्ली एवं मद्रास इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी
पेशाप्रोफेसर, लेखक, वैज्ञानिक
धर्मइस्लाम
अन्य पदपूर्व राष्ट्रपति
वेबसाइटabdulkalam.com

APJ Abdul Kalam Biography in Hindi – अब्दुल कलाम जी का जीवन परिचय हिंदी में

एपीजे अब्दुल कलाम जीवनी (Biography of A.P.J Abdul Kalam in Hindi)

डॉ एपीजे अब्दुल कलाम का जन्म 15 अक्टूबर 1931 में हुआ था, एपीजे अब्दुल कलाम का पूरा नाम अब्दुल पाकिर जैनुलाअबदीन अब्दुल कलाम मसऊदी था | इनका जन्म तमिलनाडु के एक छोटे गांव धनुष्कोड़ी अथवा रामेश्वर में हुआ था और वे मध्यमवर्ग मुस्लिम समुदाय से थे, अब्दुल कलाम के पिता का नाम जैनुलाब्दीन व माता का नाम आशीयम्मा था और संयुक्त परिवार में रहते थे।

जब पांचवी क्लास में पढ़ते थे तब उनके शिक्षक ने उनको पक्षी के उड़ने की प्रक्रिया के बारे में बताया और उस समय सभी छात्र समझ नहीं पाए थे, तो इसीलिए उनको समुद्र तट पर लेकर गए और उनको उड़ते हुए पक्षी दिखाएं उसी वक्त अब्दुल कलाम भी साथ में थे और उन्होंने आपने भविष्य में  विमान विज्ञान में जाने का सोचा था।

इनको अपने पढ़ाई पूरी करने के लिए अपने शहर में अखबार भी बेचने पड़े थे, सन 1950 मैं मद्रास इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी मैं अंतरिक्ष विज्ञान के क्षेत्र में स्नातक की उपाधि प्राप्त की थी।

कुछ समय बाद वह भारतीय रक्षा अनुसंधान एवं विकास संस्थान में एक मुख्य परियोजना पर कार्य करने लगे थे, इन्होंने अपना पहला अंतरिक्ष विमान 1982 मैं रोहिणी उपग्रह के रूप में अंतरिक्ष में भेजा ‌था।

APJ Abdul Kalam Biography in Hindi, Abdul Kalam Biography in Hindi, Abdul Kalam in Hindi, APJ Abdul Kalam in Hindi, About Abdul Kalam in Hindi, Apj Abdul Kalam Books, एपीजे अब्दुल कलाम का जीवन परिचय, अब्दुल कलाम की जीवनी, अब्दुल कलाम के बारे में।

एपीजे अब्दुल कलाम एक वैज्ञानिक के रूप में

  • डॉक्टर एपीजे अब्दुल कलाम ने मद्रास स्टेट ऑफ टेक्नोलॉजी से 1950 में अंतरिक्ष विज्ञान में स्नातक की डिग्री प्राप्त की थी।
  • अब्दुल कलाम ने साठ के दशक 1960 के दशक में भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान समिति के साथ मिलकर एक प्रसिद्ध अंतरिक्ष वैज्ञानिक श्री विक्रम साराभाई के साथ काम किया था।
  • सन 1962 में एपीजे अब्दुल कलाम इसरो में शामिल हुए थे तथा वहां पर यह प्रोजेक्ट डायरेक्टर रहते हुए भारत ने अपना पहला स्वदेशी उपग्रह प्रक्षेपण यान llb3 को विकसित किया था।
  • सन 1982 मैं उनका पहला अंतरिक्ष विमान रोहिणी उपग्रह पृथ्वी की कक्षा में स्थापित हुआ था।
  • इन्हें बहुत सारी स्वदेशी गाइडेड मिसाइल भी बनाई जैसे अग्नि और पृथ्वी।
  • 1992 से 1999 तत्व भारत के रक्षा मंत्रालय के सलाहकार के रूप में भी कार्य किया इसे कार्यकाल के दौरान वाजपेई सरकार में पोकरण वह दूसरी बार न्यूक्लियर का परीक्षण किया वह पूरी दुनिया में अपना दबदबा कायम किया।
  • और इन्होंने विजन 2020 की भी शुरुआत की थी जिसके तहत आने वाले 2020 तक भारतीय विज्ञान के क्षेत्र में तरक्की के लिए खास सोच प्रदान की थी।
  • अब्दुल कलाम 1882 में डीआरडीओ के डायरेक्टर के रूप में भी कार्य किया इस उसी दौरान उनको अन्ना यूनिवर्सिटी ने डॉक्टर की उपाधि से सम्मानित किया था।
  • अब्दुल कलाम ने एक स्वदेशी मिसाइल की मुहिम की शुरुआत की थी जिसमें इन्होंने धरातल व वायु के लिए कई सारी मिसाइल भी बनाई थी जैसे पृथ्वी तहसील आकाश एवं नाग के नाम की मिसाइल भी बनाई थी।
  • 1998 में अब्दुल कलाम ने रूस के साथ मिलकर सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल के प्रोजेक्ट पर भी कार्य किया था।
  • इनके विज्ञान के क्षेत्र में किए गए कार्यों के बदौलत इनको मिसाइल मैन के नाम से भी जाना जाता है।
  • जुलाई 1992 में वे भारत के रक्षा मंत्रालय में वैज्ञानिक सलाहकार के रूप में एक बार फिर से नियुक्त किए गए थे उनकी देखरेख में सन 1998 में पोखरण में अपना दूसरा परमाणु परीक्षण किया एवं परमाणु शक्ति के रूप में संपूर्ण राष्ट्र में भारत का नाम भी आने लगा था।

APJ Abdul Kalam Biography in Hindi, Abdul Kalam Biography in Hindi, Abdul Kalam in Hindi, APJ Abdul Kalam in Hindi, About Abdul Kalam in Hindi, Apj Abdul Kalam Books, एपीजे अब्दुल कलाम का जीवन परिचय, अब्दुल कलाम की जीवनी, अब्दुल कलाम के बारे में।

अब्दुल कलाम जी भारत के राष्ट्रपति के रूप में

  • 25 जुलाई 2002 को डॉ एपीजे अब्दुल कलाम ने भारत के 11 राष्ट्रपति के रूप में शपथ ग्रहण की और पहले वैज्ञानिक राष्ट्रपति बने इनसे पहले कोई वैज्ञानिक राष्ट्रपति नहीं बना था, और उन्होंने भारतीय युवाओं को विकसित करने के लिए बहुत कार्य किए और कोई नई दिशा दिखाने का काम किया ।
  • एपीजे अब्दुल कलाम भारत के पहले राष्ट्रपति थे जिन्हें जनवादी राष्ट्रपति के रूप में जाना जाने लगा था।
  • 25 जुलाई 2007 को इनका राष्ट्रपति के रूप में कार्यकाल की समाप्ति हुई और फिर से चुनाव नहीं लड़ने का फैसला लिया ।
  • 25 जुलाई 2002 से 25 जुलाई 2007 तक उनका एक अहम राष्ट्रपति के रूप में कार्यकाल रहा जिसमें इन्होंने पोकरण और अन्य जगह पर भारतीय विज्ञान एवं टेक्नोलॉजी का शक्ति परीक्षण किया ।
  • अपने राष्ट्रपति के रूप में कार्यकाल खत्म होने के बाद उसे छात्रों के बीच में जाने लगे तथा छात्रों को एक नई दिशा प्रदान करने लगे थे।
  • कार्यकाल छोड़ने के बाद वे भारतीय प्रबंधन संस्थान शिलांग भारतीय प्रबंध संस्थान इंदौर भारतीय प्रबंधन संस्थान अहमदाबाद भारतीय विज्ञान संस्थान बेंगलुरु के विजिटिंग प्रोफेसर के रूप में कार्य किया ।
  • उन्होंने भारतीय अंतरिक्ष विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी संस्थान तिरुवंतपुरम के मुख्य कुलाधिपति के रूप में भी कार्य किया एवं अन्ना विश्वविद्यालय के एयरोस्पेस इंजीनियरिंग के प्रोफेसर के रूप में कार्य किया एवं अन्य अनुसंधान संस्थाओं में भी सहायक के रूप में कार्य करते रहे थे
  • एपीजे अब्दुल कलाम मई 2012 में भारत के युवाओं के लिए कार्यक्रम करने लगे थे उनकी पहली मुहिम भ्रष्टाचार को हराने के लिए थे जिनका नाम ” मैं आंदोलन को क्या दे सकता हूं ”  था।

APJ Abdul Kalam Biography in Hindi, Abdul Kalam Biography in Hindi, Abdul Kalam in Hindi, APJ Abdul Kalam in Hindi, About Abdul Kalam in Hindi, Apj Abdul Kalam Books, एपीजे अब्दुल कलाम का जीवन परिचय, अब्दुल कलाम की जीवनी, अब्दुल कलाम के बारे में।

डॉ एपीजे अब्दुल कलाम की पुस्तकें – APJ Abdul Kalam Books in Hindi

डॉ एपीजे अब्दुल कलाम का साहित्य अत्यधिक रुचि थी और इंडिया ने अपने साहित्यिक विचारों को मुख्य रूप से चार पुस्तकों में समाहित किया है जो कि इस प्रकार है।

  • इंडिया 2020 ए विजन फॉर द न्यू मिलेनियम
  • माय जर्नी
  • इग्नाटिड माइंडस – अनलीशिग द पावर विदीन इंडिया
  • इंडिया माय ड्रीम्स

इन पुस्तकों के अलावा एपीजे अब्दुल कलाम ने और भी बहुत सारी पुस्तकें लिखी थी जिनके नाम इस प्रकार है

  • अग्नि की उड़ान
  • इंडिया 2020
  • इगनाइटेड माइंड्स
  • टर्निंग पॉइंट
  • अदम्य साहस

पुरस्कार एवं उपलब्धियां

डॉ एपीजे अब्दुल कलाम के पड़ोसी से 79 में वे जन्मदिन को विश्व विद्यार्थी दिवस के रूप में संयुक्त राष्ट्र द्वारा मना गया था इसके द्वारा लगभग 40 विश्वविद्यालयों के द्वारा इनको मानद डॉक्टरेट की उपाधि प्रदान की थी और इनको भारत सरकार के द्वारा सन 1981 में पदम भूषण एवं 1990 इनको पदम विभूषण की उपाधि प्रदान की गई थी।

डॉ एपीजे अब्दुल कलाम अपने जीवन के अंतिम पड़ाव तक भारतीय विज्ञान एवं टेक्नोलॉजी मैं अपने योगदान देते रहे थे यहां तक कि उनका देहांत भी एक छात्र सम्मेलन में हुआ था जहां वे छात्रों को संबोधित कर रहे थे।

APJ Abdul Kalam Biography in Hindi, Abdul Kalam Biography in Hindi, Abdul Kalam in Hindi, APJ Abdul Kalam in Hindi, About Abdul Kalam in Hindi, Apj Abdul Kalam Books, एपीजे अब्दुल कलाम का जीवन परिचय, अब्दुल कलाम की जीवनी, अब्दुल कलाम के बारे में।

एपीजे अब्दुल कलाम को दिए गए कुछ पुरस्कार

  • सन 1981 में इनको भारत सरकार के द्वारा पदम भूषण से सम्मानित किया गया था।
  • सन 1990 में इनको भारत सरकार के द्वारा पदम विभूषण से सम्मानित किया गया था
  • सन 1994 में इनको इंस्टीट्यूट ऑफ डायरेक्टर्स इंडिया के द्वारा विशिष्ट शोधार्थी का सम्मान दिया गया था।
  • सन 1997 में को भारत सरकार द्वारा भारत रतन रत्न से सम्मानित किया गया था जो उनके लिए एक महान व्यक्ति होने का प्रतीक है।
  • सन 1997 में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के द्वारा इनको इंदिरा गांधी राष्ट्रीय एकता पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।
  • सन 1998 में इनको भारत सरकार के द्वारा वीर सावरकर पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।
  • सन 2007 में इनको वॉल्वरहैंपटन विश्वविद्यालय के द्वारा इनको डॉक्टर ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी की मानद उपाधि के द्वारा सम्मानित किया गया था।
  • सन 2008 में इनको नानयाग टेक्नोलॉजिकल विश्वविद्यालय सिंगापुर के द्वारा डॉक्टर ऑफ इंजीनियरिंग की उपाधि दी गई थी।
  • सन 2009 में इनको ऑकलैंड विश्वविद्यालय के द्वारा मानद डॉक्टरेट की उपाधि से सम्मानित किया गया था।
  • सन 2010 में इनको यूनिवर्सिटी ऑफ वाटरलू के द्वारा इनको डॉक्टर ऑफ इंजीनियरिंग पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।
  • सन 2012 में इनको साइमन फ्रेजर विश्वविद्यालय के द्वारा डॉक्टर और लॉज की उपाधि दी गई थी।
  • सन 2014 में इनको डॉक्टर ऑफ साइंस की उपाधि से सम्मानित किया गया था।

ऐसे ही इनको बहुत सारे पुरस्कार एवं उपाधियों से सम्मानित किया गया था और वे कई सालों तक बड़े-बड़े विश्ववि,द्यालय प्रोफेसर के रूप में भी अपना योगदान दिया ।

APJ Abdul Kalam Biography in Hindi, Abdul Kalam Biography in Hindi, Abdul Kalam in Hindi, APJ Abdul Kalam in Hindi, About Abdul Kalam in Hindi, Apj Abdul Kalam Books, एपीजे अब्दुल कलाम का जीवन परिचय, अब्दुल कलाम की जीवनी, अब्दुल कलाम के बारे में।

अब्दुल कलाम का निधन

भारतीय प्रबंधन संस्थान शिलांग में 27 जुलाई 2015 की शाम डॉ एपीजे अब्दुल कलाम एक व्याख्यान दे रहे थे जब उन्हें एक भयानक कार्डियक अरेस्ट दिल का दौरा आया और वे गिर पड़े।

लगभग 6:30 बजे गंभीर हालत में पास ही में बेथानी अस्पताल के आईसीयू में ले जाया गया था और 2 से 3 घंटे बाद उनकी मृत्यु की पुष्टि भी कर दी गई थी जब तक उनका अस्पताल पहुंचा गया था तब ब्लड प्रेशर साथ छोड़ चुके थे अपने निधन के 9 घंटे पहले उन्होंने ट्वीट के माध्यम से सभी को बताया कि वह शिलांग में एक लेक्चर देने के लिए जा रहे हैं।

उनकी मृत्यु के ठीक कुछ समय बाद उनको भारतीय वायुसेना के हेलीकॉप्टर के माध्यम से शिलांग से गुवाहाटी लाया गया था। जहां से आने वाले 28 जुलाई को पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम का पार्थिक सरिवार वायु सेना के वाहन के द्वारा दिल्ली लाया गया।

28 जुलाई और 29 जुलाई को उनको दिल्ली में रखा गया था, 30 जुलाई को शाम को उनको उनके पैतृक गांव तक लेकर गए थे वहां पर उनका 30 जुलाई को अंतिम संस्कार किया गया जिसमें भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी तमिलनाडु के राज्यपाल और कर्नाटक केरल एवं आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्रियों के सहित लगभग 3.5 लाख से अधिक लोगों ने एपीजे अब्दुल कलाम का अंतिम संस्कार में भाग लिया।

तथा भारत के सभी नागरिकों मैं एपीजे अब्दुल कलाम के निधन पर सोशल मीडिया के माध्यम से व्यक्त किया एवं उनके द्वारा की गई बातों को सोशल मीडिया पर शेयर करके उन पर कार्य करने के लिए निर्णय भी लिया गया।

अन्य जीवनी पढ़ें-

Tags- APJ Abdul Kalam Biography in Hindi, Abdul Kalam Biography in Hindi, Abdul Kalam in Hindi, APJ Abdul Kalam in Hindi, About Abdul Kalam in Hindi, Apj Abdul Kalam Books, एपीजे अब्दुल कलाम का जीवन परिचय, अब्दुल कलाम की जीवनी, अब्दुल कलाम के बारे में।

Leave a Reply